मोटापा कम करने के 50 सबसे बेस्ट आयुर्वेदिक उपाय | Motapa Kam Karne Ke Liye Ayurvedic Tarike

मोटापा कम करने का रामबाण उपाय, तरिका और उपचार | Motapa Kam Karne Ke Liye Ayurvedic Tarike

 क्या आप भी ऊन लोगो में से है जो गुगल पर मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय की तलाश कर रहे है? अगर हा तो आज आप सही जगह पे आये है। मै आज आपको पतंजलि मोटापा कम करने की दवा जैसे ही मोटापा कम करने के लिए आयुर्वेदिक उपाय बताऊंगा जिसके मदत से आप अपना वजन आराम से कम कर सकते हो, तो चलिये देखते है Motapa Kam Karne Ke Liye Ayurvedic Tarike कोनसे है।
 

वजन कम करने की दवा आयुर्वेदिक(मोटापा कम करने के घरेलू उपाय)

 

1. वजन कम करने के लिए नींबू और शहद के फायदे

मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय

 यदी आप मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय को अपनाना चाहते है तो निंबू और शहद आपका मोटापा कम करने के लिए बेस्ट उपाय साबित हो सकता है। हर सुबह ब्रश करने के तुरंत बाद आप निंबू और शहद को पाणी के साथ मिलाकर सेवन करे, यह एक स्वादिष्ट पेय भी है जो आपकी भूक को नियंत्रित करने में सहायक होता है जो आपके वजन को कम कर सकता है। 

2. वजन कम करने के लिए अदरक के फायदे

मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय

आयुर्वेद के अनुसार अदरक का उपयोग वजन कम करने के लिए आयुर्वेदिक उपाय से किया जाता है, क्यूकी अदरक में ऐसे गुण होते है जो शरीर में मौजुद अतिरिक्त वसा को कम कर सकते है। अदरक में जिजरालं नामक एक योगिक होता है जो आंतरिक अंगो की सुजन को कम मारणे में सहायक होता है, इस लिए यह अदरक मोटापा कम करने के लिए और इन्सुलिन प्रतिरोध के परिणामो को प्रभावीत करता है। अदरक में वजन कम करने के गुण होते है, जो की प्रमुख 6-जिंजरॉल में लिपिड सिंथेसाइजिंग एंजाइमों की गतिविधीयो में बदलाव करके वसा संश्लेषण को रोक दिया जाता है। इस तरह से अगर आप आयुर्वेदिक दवा से महिलाओं का मोटापा कम करने के उपाय घरेलू से वजन कम करना चाहते है तो अदरक को अपने नियमित भोजन में शामिल कर ले। 

3. वजन कम करने के लिए विजयसार के फायदे

मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय
विजयसार एक पर्णपाती वृक्ष है, इसकी छाल का उपयोग मधुमेह और मोटापे के लक्षणो को दूर करने के लिए किया जाता है। ऐसा माना जाता है की विजयसार में वसा को कम करने वाले गुण होते है, जो पेट की चर्बी को दूर करणे में मदत करते है। इसके अलावा इस पेड की राल और छाल का उपयोग करने से पाचन तंत्र को स्वस्थ रखा जा सकता है। आप प्रभावी परिणाम प्राप्त करने के लिए विजयसार का उपयोग कर एक हर्बल चाय का सेवन कर सकते है, और विजयसार भी वजन कम करने के लिए आयुर्वेद का ही एक हिस्सा है।
 

4. वजन कम करने के लिए त्रिफला के फायदे

मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय

 त्रिफला चूर्ण शरीर से विशाक्त पदार्थो को दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है, इसके अलावा त्रिफला चूर्ण के फायदे पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में सहायक होते है। त्रिफला एक आयुर्वेदिक औषधी है जो आवला सहित दो अन्य जडी-बुटीयो के संयोजन से बनाया जाता है, इस मिश्रण में शरीर की सफाई करने वाले गुण होते है। आयुर्वेद विशेषज्ञ के अनुसार नियमित रुप से गर्म पाणी के साथ अगर त्रिफला चूर्ण का सेवन कर आप अपने वजन को नियंत्रित कर सकते है। त्रिफला चूर्ण को रात के भोजन के लगभग 2 घंटे पहले और नाष्टे से लगभग आधे घंटे से पहले सेवन करना चाहिए।

इसे भी पढिये:-

5. वजन कम करने के लिए दालचिनी के फायदे

मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय

मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय का ही यह दालचिनी उपाय भी एक प्रकार से आयुर्वेदिक औषधी है जिसे हम मसाले के रुपये में उपयोग करते है, औषधीय गुणो से भरपूर होने के कारण दालचिनी का उपयोग विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक औषधीयो के निर्माण के लिए किया जाता है। मुख्य रुतो से यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाने में मदत करती है। लेकिन दालचिनी शरीर के चयापचय को उत्तेजित करने में मदत करता है, जो पेट की चर्बी को कम करने में मदतगार होता है। मोटापा कम करने के लिए आप सुबह दालचिनी से बनी चाय का सेवन कर सकते है, इससे आपका वजन कम होने में सहायता मिलेगी। 

6. वजन कम करने के लिए गिलोय के फायदे

मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय

 इस गिलोय जडी बुटी के औषधीय गुणो में से एक यह है की इसका उपयोग एक एडाप्टोजेनिक पदार्थ के रुपये में किया जाता है, जो तणाव को प्रबंधित करके शरीर की क्षमता को बढावा देता है। यह तणाव के प्रभावो को नियंत्रित करके और द्वि घातुमान को रोकने से वजन घटाने में मदत कर सकता है, इसलिए पेट की चर्बी से छुटकारा पाने का यह 1 बेहतरीन उपाय है। 

7. वजन कम करने के लिए चित्रक के फायदे

मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय

चित्रक अपने क्षुधावर्धक और पाचन गुणो के कारण वसा के संचय को कम करने में मदत करता है यह अपनी रेचक संपत्ती के कारण कब्ज का प्रबंधन करने में मदत करता है, जिससे मोतापेबका संचालन होता है। 

8. वजन कम करने के लिए कुल्थी के फायदे

मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय

 यह कुल्थी पैधो पर आधारित प्रोटीन का एक बडा स्रोत है, जो वजन घंटाने में मदत करता है। यह भूक कम करने वाले हार्मोन जैसे की GLP-1, PYY और CCK के स्तर को बढाता है, जबकी भूक बढाने वाले हार्मोन-घ्रेलिन के स्तर को कम करता है। जिससे इन्सान की खाने की लालसा कम होती है और उसका वजन कम होने में मदत मिलती है। 

9. वजन कम करने के लिए निंबु पाणी के फायदे

मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय
मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय

प्राकृतिक तरिके से बॉडी को डिटॉक्सिफाइंग करने के लिए निंबू पाणी का उपयोग कर सकते है। यह मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय में से 9 नंबर वाला तरिका है, जो आयुर्वेद के अनुसार निंबू पाणी का सेवन करना शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होता है। यह आपके वजन को संतुलित या कम करने में सहायक हो सकता है, नियमित रुप से मॉर्निंग में 1 ग्लास गर्म पाणी के साथ निंबू के रस का सेवन न केवल पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है बल्की वजन कम करता है।

इसे भी पढिये:-

Leave a Comment