गार्नियर विटामिन सी सीरम के फायदे और नुकसान | Garnier Vitamin C Serum Ke Fayde Aur Nuksan

गार्नियर विटामिन सी सीरम के फायदे और साइड इफेक्ट

हॅलो फ्रेंड्स कैसे हो आप सब हमे आशा है आप सब ठीक होंगे, पिछले पोस्ट में हमने आपके लिए आंखों के नीचे काले घेरे होने के कारण और उपाय का एक लेख लिखा था और आज के इस पोस्ट में हमने आपके लिए गार्नियर विटामिन सी सीरम के फायदे और नुकसान क्या क्या हो सकते है यह पुरी जाणकारी लिखी है गुडजी.कॉम को आशा है कि हमने जितने भी पोस्ट लिखे है।
उन सारी पोस्ट से आपको कुछ तो बेनिफिट हो रहा होगा, अगर आपको कुछ दिक्कत आ रही है तो हमसे जरूर कॉन्टॅक्ट करें हम जरूर आपके प्रॉब्लेम का सोलुशन निकालने का प्रयास करेंगे, तो चलिये शुरु करते है आज का हमारा Garnier Vitamin C Serum Ke Fayde Aur Nuksan पोस्ट पढना और जान लेते है।

 

गार्नियर विटामीन-C सिरम क्या है?

स्किनकेयर कि जब भी बात आती है तो एक ही प्रॉडक्ट सामने आता है, जो लगभग हर किसी कर स्किनकेयर रुटीन का हिस्सा होता है, और वह विटामीन-C है। विटामीन-C को बाजार में सबसे अच्छे एंटी-ऑक्सीडेंट इंग्रेडिएंट्स में से एक के रूप में जाना जाता है और यह सच भी है। इसमे कोई आश्चर्य कि बात नहीं है कि विटामीन-C सिरम, शीट मास्क, फेस क्रीम और अन्य विटामीन-C स्किनकेयर प्रॉडक्ट विशेष रूप से विटामीन-C सिरम ने तेजी से लोगो के दिलो में अपनी जगह बना ली है।
 
गार्नियर विटामीन-C सिरम में शुद्ध विटामीन-C और युजू लेमन एक्सट्रेक्ट शामिल है, जो त्वचा को ब्राईट करने के साथ-साथ दाग-धब्बो से छुटकारा भी दिलाता है। यह सबसे केंद्रित स्पॉट-रिडक्शन फॉर्मूला के साथ तौयार किया गया है, और कंपनी क्लेम करती है कि इसका उपयोग शुरु करने के 3 दिनो के अंदर आपको अपनी त्वचा में फर्क दिखना शुरु हो जायेगा। इस लिए हमने आपके लिए आज गार्निअर विटामिन सी सीरम के फायदे और नुकसान का एक छोटासा लेख लिखा है और आपको फायदा हो इस लिए पुरी जाणकारी प्रदान कि है।
 

गार्निअर विटामिन सी सीरम के फायदे

 

1. सन डॅमेज से बचाता है

सन डॅमेज असलं में एक फ्री रेडिकल्स नाम के मॉलीक्यूल के कारण होता है, ये ऐसे अनु है जिनमे इलेक्ट्रॉन नहीं पाया जाता है। फ्री रेडिकल्स इलेक्ट्रॉन छिनणे के लिए दुसरे अनुवो कि तलाश करते है, इस वजह से स्किन को काफी नुकसान होता है। विटामिन सी एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है। एंटीऑक्सीडेंट्स स्किन कि हेल्दी कोशिकाओ को बचाने के लिए इन फ्री रेडिकल्स को इलेक्ट्रॉन दे देते है। इसी वजह से एंटीऑक्सीडेंट्स को स्किन के लिए हेल्दी समझा जाता है।
 

2. स्किन को नमी देता है

स्किन केयर के लिए प्रयोग किए जाणे वाले विटामीन-C बेस्ड स्किन केयर प्रॉडक्ट में मैग्नीशियम एस्कॉर्बियल फॉस्फेट भी जरूर पाया जाता है। ये स्किन कि नमी बनाये रखने में बहुत मदत करता है। एक रिसर्च में पाया गया है कि मैग्नीशियम एस्कॉर्बियल फॉस्फेट स्किन पर लगाने से नमी को ज्यादा देर तक बनाकर रखता है। इसके अलावा ये स्किन में होने वाले ट्रांस एपीडर्मल वॉटर लॉस को भी कम करता है।
 

3. त्वचा के ढीलापन को दूर करता है

बढती उम्र के साथ त्वचा में लचीलापण बढ जाता है इसकी वजह है उम्र बढणे के साथ कोलेजन के निर्माण में कमी होणा। कोलेजन एक प्रकार कि नॅचरल प्रोटीन होती है जो त्वचा के कासव के लिए जिम्मेदार होती है। गार्निअर विटामीन सी सिरम इस कोलेजन के उत्पादन में सहायक होता है, जिससे त्वचा में लचिलेपण दूर होकर कसाव आता है। जिससे त्वचा को जवान बनाने के साथ ही बढती उम्र के लक्षणो को कम करता है।
 

4. हाइपरपिगमेंटेशन को हल्का करता है

हाइपरपिगमेंटेशन में कई तरह कि स्किन से जुडी समस्याओ को शामिल किया जा सकता है, इन समस्याओ में सन स्पॉट्स, एज स्पॉट्स और मेलाज्मा Etc कि समस्या शामिल है। ये समस्याए उन समय जन्म लेती है जण स्किन के कुछ खास हिस्सो में मेलेनीन बहुत ज्यादा मात्रा में बनने लगता है।
 
ये समस्या स्किन के उन हिस्सो में भी हो सकती है, जहाँ पर मुहांसे कि समस्या हाल ही में ठीक हुई हो। विटामीन-C बेस्ड सिरम को स्किन पर लगाने से मेलेनीन के उत्पादन को कम करणे में मदत मिल सकती है। विटामीन-C कि मदत से डार्क स्पॉट्स का रंग हल्का करने में भी मदत मिल सकती है। ये स्किन को ज्यादा टोण्ड कॉम्प्लैक्शन हासील करने में भी मदत कर सकता है। 
 
हमे आशा है कि आपको हमारा आज का ये गार्निअर विटामिन सी सीरम के फायदे लेख पसंद आ रहा हो, इस लेख को पुरा पढणे के बाद आपके कुछ सवाल हो तो हमसे नीचे कॉमेंट बॉक्स में पूछ सकते हो।
 
 

5. स्किन की रंगत निखारता है

विटामीन-C स्किन कि रंगत को भी निखारणे में मदत करता है और ये पिगमेंटेशन का रंग हल्का करता है और स्किन कि सतह को चिकना बनाता है। इसके नियमित उपयोग से स्किन को जवानी जैसी चमक वापस मिल सकती है।
 

 

गार्नियर विटामिन सी सीरम का उपयोग कैसे करें

चाहे कोई भी सीरम हो या कोई ब्यूटी प्रॉडक्ट, सबसे पहले अपने हाथो पर बिना पैच टेस्ट किये कोई भी प्रॉडक्ट अपने चेहरे पर मत लगाना। यह टेस्ट क्र पुरे 24  घंटे का इंतजार करे और देखे की क्या use किया हुवा प्रॉडक्ट आपकी स्किन को सूट करता है या नहीं। अगर आपको कोई एलर्जी रिएक्शन हुवा तो आप तुरंत अपने स्किन के डॉक्टर को दिखाए ताकि कोई बुरा रिएक्शन न हो।

1. अपने चहरे को साफ़ करे

चाहे कोई भी प्रॉडक्ट हो आपको उसके उपयोग से अपना चेहरा पूरा क्लीन करना चाहिए। एक साफ़ चेहरा एक परफेक्ट बेस की तरह होआ है जिसपर आप किसी भी प्रॉडक्ट का उपयोग बेस्ट तरीके से कर सकते है।

2. अब गार्नियर विटामिन सी सीरम को अप्लाय करे

अगर आप टोनर का उपयोग करने वालो में से है तो अब समय आ गया है की आप टोनर का उपयोग छोड़ कर सीरम का उपयोग करना शुरू कर दे। एक बार सीरम अप्लाय करने के बाद 90 सेकंड तक का इंतजार करे और अपने चेहरे पर सीरम को सोखने दे और फिर इसके बाद मॉइस्चराइजर का उपयोग करे।

3. सनस्क्रीन लगाना न भूले

मॉइस्चराइजर लगाने के बाद, SPF या सनस्क्रीन अप्लाय क्र अपनी स्किन केयर सील करे। आपको बता दे की विटामिन-C और सनस्क्रीन दोनों ही लगाने से समय से पहले की एजिंग कम होती है और  को एक रेडियंट और सप्पल ग्लो मिलता है।

 

गार्निअर विटामिन सी सीरम के नुकसान(दुष्प्रभाव) सावधानियां:

विटामीन-C सिरम आमतौर पर कुछ लोगो के लिए परेशान करने वाला माना जाता है। विटामीन-C एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जिसे जलने से बचाने के लिए कम ताकत से शुरु किया जाना चाहिए।
 
साइड इफेक्ट्स में खुजली वाली त्वचा, झुणझुनी, सणसणी, जलन और चकत्ते शामिल हो सकते है, यदी आप किसी प्रतिकूल प्रभाव का अनुभव करते है, तो इस सिरम का उपयोग करणा बंद करें और उपचार के लिए अपने डॉक्टर से परमार्श करे।
 
क्यूकी गार्नियर विटामीन-C सिरम में कुछ रासायनिक एक्सफोलिएंट्स होते है, इसलिये यह सूर्य के प्रति संवेदनशीलता बढा सकता है। इस विटामीन-C सिरम का उपयोग करते समय सुबह एक व्यापक स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन का उदारतापूर्वक उपयोग करणा सुनिश्चित करें।
 
सिरम हानिकारक नहीं होता है, लेकिन जो लोग स्किनकेयर में खुशबू के प्रति संवेदनशील है, उन्हे यह सिरम समस्याग्रस्त लग सकता है क्यूँकी इसमे सुगंध एलर्जेन सामग्री का एक गुच्छा होता है।
 

गार्निअर विटामिन सी सीरम के दुष्प्रभाव

  • त्वचा का लाल होणा।
  • खुजली होणा।
  • चेहरे पर जलन होणा।
  • त्वचा कि रंगत खराब हो सकती है।
  • स्कीन एलर्जी होणा।
  • त्वचा पर सुजन आणा।
 

Leave a Comment